लाइमलाइट से दूर क्यों हुईं रिमी सेन: एक्ट्रेस ने बताया- मुझे लोगों, करियर और पीआर को हैंडल करना नहीं आया, मैं मशीन की तरह बन चुकी थी

20
  • Hindi News
  • Entertainment
  • Bollywood
  • Why Did Rimi Sen Get Away From Limelight: The Actress Said I Did Not Know How To Handle People, Career And PR, I Had Become Like A Machine

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

एक घंटा पहले

  • कॉपी लिंक

एक्ट्रेस रिमि सेन आजकल स्पॉट लाइट से बहुत दूर हैं। उनसे जब इस बारे में पूछा गया कि उन्होंने आजकल फिल्मों से इतनी दूरी क्यों बना ली है तो उसके जवाब में रिमी ने कहा कि वो अपनी एक्टिंग को लेकर बहुत सीरियस नहीं थीं और ना ही उन्हें मालूम था कि अपने करियर को हैंडल कैसे किया जाए। साथ ही रिमि ने बताया कि उन्हें लोगों को, करियर को और पीआर को हैंडल करना नहीं आता था। वो बस एक मशीन की तरह बन चुकी थीं।

मैंने इस करियर को नहीं चुना बल्कि इसने मुझे चुना: रिमि सेन

रिमि कहती हैं, “सेट पर जाना, परफॉर्म करना और अपना बेस्ट शॉट देना सिर्फ एक्टिंग नहीं है। मुझे कभी भी पूरे प्रोसेस के बारे मे पता नहीं था, क्योंकि उसे समझने के लिए मैच्योर होना पड़ता है। मुझे नहीं पता था कि लोगों को, मेरे करियर को, पी.आर को कैसे हैंडल करना पड़ता है और कैसे लोगों के टच में रहा जाता है। मैं एक मशीन की तरह बन गई थी। कुछ लोग होते हैं जो सिर्फ पैसे के लिए काम करते हैं और कुछ होते हैं जो फेम के लिए काम करते हैं। उनके लिए सभी प्रोजेक्ट्स डू एंड डाई बिजनेस की तरह हो जाते हैं। मैं एक्टिंग को लेकर कभी भी इतनी सीरियस नहीं थी। मैं बहुत यंग थी तब ऑफर्स और पैसे आते रहते थे। मैं कहूंगी कि मैंने इस करियर को नहीं चुना बल्कि इसने मुझे चुना।”

क्रिएटिविटी की प्यास न सेटिस्फाई होने की वजह से रिमी ने फिल्मों से गैप लिया

रिमी ने आगे कहा, ” मैं उस समय सिर्फ कॉमेडी फिल्में ही कर रही थी। शुरुआत में, मुझे काम करने में मजा आया, लेकिन जब मैंने अपने करियर को थोड़ा और स्टडी करना शुरू किया, तो मैंने अलग-अलग रोल्स की तलाश की और फिल्म ‘जॉनी गद्दार’ और ‘संकट सिटी’ में काम किया। जब ये फिल्में नहीं चलीं तब मेरे करियर ने एक हिट लिया। मुझे अभी भी कॉमेडी फिल्मों में रोल्स मिल रहे थे, लेकिन मैं उन्हें केवल सरवाइवल के लिए नहीं करना चाहती थी। मैं फंस गयी थी। ये सच है कि फाइनेंशियल सिक्योरिटी एक अहम भूमिका निभाती है पर कुछ समय बाद पैसा मायने नहीं रखता है। मेरी क्रिएटिविटी की प्यास सेटिस्फाई नहीं हो रही थी। तो मैंने गैप लेना डिसाइड किया।”

क्रिएटिव सेटिस्फेक्शन की तलाश में हैं रिमि

रिमी ने इसके बाद फिल्म ‘बुधिया सिंह- बॉर्न टू रन’ को 2016 में प्रोड्यूस किया। इस फिल्म की आसफलता ने उन्हें और भी पीछे ढकेल दिया था। अब वो पूरी तरह से एक्टिंग में कमबैक की तैयारी में हैं और ओ.टी.टी प्लेटफॉर्म की तरफ देख रहीं हैं। उन्होंने बताया, “मैं अब अपने दूसरे और आखिरी इनिंग के लिए तैयार हूं। मैं उन शोज की तरफ देख रहीं हूं जहां कैरेक्टर स्टोरी के लिए जरूरी होगा। मैं ऐसे रोल्स के इंतजार में हूं जो मेरे लायक हों। अपनी लाइफ के करेंट फेज में मैं किसी एक्ट्रेस को कंपटीशन नहीं दे सकती। मुझे लीड रोल्स भी नहीं चाहिए मैं कुछ यादगार करना चाहती हूं। मैं फेम और पैसा नहीं बल्कि क्रिएटिव सेटिस्फेक्शन की तलाश में हूं।

अपनी लाइफस्टाइल का ध्यान रखती हैं रिमि

रिमि ने आगे बताया, “मैंने अपनी बॉडी की बात सुनी। मैं अब जानती हूं कि किस तरह का खाना और वर्कआउट मुझे सूट करता है। इससे पहले, मैं कोशिश करती थी कि मेरी बॉडी एक निश्चित तरीके से दिखे। मैंने अपनी कैपेबिलिटीज और लिमिटेशन्स के अंदर रहकर काम किया और अब मैं अपने सबसे अच्छे शेप में हूं। इसमें कुछ समय लगा लेकिन मैं अब अपनी लाइफस्टाइल का ध्यान रखती हूं। इससे मुझे बहुत मदद भी मिली है।”

खबरें और भी हैं…

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here